अगर आप भी करते ऑनलाइन शापिंग तो जरूर पढ़ें ये खबर, फ्लिपकार्ट ने किया ये ऐलान

Flipkart.

बेंगलुरुः ई-कॉमर्स कम्पनी- फ्लिपकार्ट ने सोमवार को अपने सभी पे-ऑन-डिलीवरी शिपमेंट के लिए कॉन्टैक्टलेस, क्यूआर-कोड आधारित भुगतान सुविधा शुरू करने की घोषणा की। इससे अब कैश ऑन डिलिवरी ऑर्डर करने वाले ग्राहक क्यूआर कोड स्कैन करके पैमेंट कर सकेंगे। कंपनी ने एक बयान में कहा कि जिन उपभोक्ताओं ने पहले कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प चुना है, वे डिलीवरी के समय किसी भी यूपीआई ऐप के माध्यम से अपने ऑर्डर के लिए डिजिटल भुगतान कर सकते हैं।

फ्लिपकार्ट में फिनटेक और भुगतान समूह के प्रमुख रंजीत बोयानापल्ली ने कहा, ‘पे-ऑन-डिलीवरी’ तकनीक के साथ, हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि ग्राहकों को अपने भुगतान के साथ मन की शांति मिले और उसी समय अपने घरों की सुरक्षा के भीतर खरीदारी कर सकते हैं। यूपीआई-आधारित भुगतानों की संख्या में पिछले कुछ वर्षों में लगातार वृद्धि देखी गई है।

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) के आंकड़ों के अनुसार, इस साल अप्रैल में 2.64 अरब लेनदेन दर्ज किए जाने के साथ महामारी ने यूपीआई भुगतान को अपनाने में भी तेजी लाई है। पिछले वर्ष की तुलना में इसमें 100 प्रतिशत की वृद्धि हुएई है। फ्लिपकार्ट द्वारा नई क्यूआर-आधारित भुगतान सुविधा लाने से डिजिटल लेनदेन में उपभोक्ता के विश्वास को और मजबूत करने, उपभोक्ता सुरक्षा को बढ़ाने और डिजिटल कॉमर्स को अपनाने में समग्र वृद्धि में योगदान करने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ेंः-दिवाली तक मुफ्त राशन, 18+ को फ्री वैक्सीन, देखें पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें

कंपनी ने कहा, फ्लिपकार्ट के पेमेंट कंस्ट्रक्शन और इन-हाउस फिनटेक इनोवेशन नए-टू-इंटरनेट ग्राहकों को सशक्त बना रहे हैं और अगले 20 करोड़ यूजर्स को प्लेटफॉर्म पर लाने में मदद कर रहे हैं। 30 करोड़ से अधिक के पंजीकृत ग्राहक आधार के साथ, फ्लिपकार्ट 80 से अधिक श्रेणियों में 15 करोड़ से अधिक उत्पादों की पेशकश कर रहा है।