महिलाओं की समस्या देख कर आया बिजनेस का आइडिया, फिर ऐसे बदली किस्मत

लखनऊ: समाज के काफी आगे बढ़ जाने के बाद भी महिलाओं को खुलेआम अपने अंडरगॉर्मेंट्स के बारे में बात करने में अभी भी कई बार सोचना पड़ता है। यहां तक की जब वो अपने लिए दुकान पर लॉन्जरी या अंडरगॉर्मेंट्स खरीदने जाती हैं तो दुकानदार से बोलने में काफी सोचती हैं, वो भी अगर शॉपकीपर कोई पुरुष हो तो।

इसी समस्या का सामना रिचा कर को भी करना पड़ा। जिसके बाद महिलाओं की समस्या व संकोच का सामना करने के लिए रिचा ने जिवामे नाम की ई-कॉमर्स की शुरूआत की। जिवामे महिलाओं को समर्पित एक ऑनलाइन फैशन व लॉन्जरी स्टोर है। जहां महिलाएं ऑनलाइन अपने अंडरगॉर्मेंट्स को बिना किसी झिझक या संकोच के खरीद सकती हैं। आज रिचा की जिवामे एक सफल ई-कंपनी हैं, मगर ये करना उनके लिए आसान नहीं था।

मां ने किया विरोध

रिचा का जन्म जमशेदपुर के एक मिडिल क्लास परिवार में हुआ था। उन्होंने बिट्स-पिलानी से पढ़ाई की। रिचा ने कई बार जब महिलाओं को अंडरगॉर्मेंट्स खरीदत समय इस परेशानी का सामना करते देखा तो उन्हें अपने इस बिजनेस का आईडिया आया। मगर रिचा ने जब अपना ये आईडिया अपने घर पर बताया तो उन्हें सबसे पहले अपनी मां के विरोध का ही सामना करना पड़ा। उनकी मां ने बेटी का ये कहकर विरोध किया कि मैं अपनी सहेलियों को कैसे बताउंगी कि मेरी बेटी ब्रा-पैंटी बेचती है। वहीं उनके पिता को तो समझ ही नहीं आया कि वो कौन सा काम करना चाहती हैं। लोगों को जब उनके इस बिजनेस के बारे में पता चला तो वो इस पर हंसते थे।

35 लाख से की शुरूआत

विरोध के बावजूद रिचा अपने बिजनेस आईडिया पर अड़ी रहीं। हालांकि उन्हें इसके लिए कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा। यहां तक की उन्हें अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ा। उन्हें ऑफिस के लिए जगह ढूंढने में भी समस्या का सामना करना पड़ा। किराए पर मकान लेते समय भी मकान मालिक के बिजनेस के बारे में पूछने पर वो उससे इतना ही कह सकीं कि वो ऑनलाइन कपड़े बेचती हैं। मगर इन मुश्किलों से रिचा डरी नहीं और अपने मजबूत इरादों पर टिकी रहीं। अंततः साल 2011 में रिचा ने अपने ऑनलाइन स्टोर जीवामे की शुरूआत की। रिचा ने इसकी शुरूआत सिर्फ 35 लाख रुपए से की थी। इसे उन्होंने अपने दोस्तों और परिवार वालों से जुटाया। इसमें उनकी अपनी सेविंग्स भी शामिल थी। आज जिवामे हर मिनट एक अंडरगॉर्मेंट बेच रही है।

यह भी पढ़ेंः-पारंपरिक फसलों का यही है सही समय, करें बुवाई

आज है एक सफल ई-कॉमर्स कंपनी

आज जिवामे एक अत्यंत सफल ई-कॉमर्स कंपनी है। 35 लाख से शुरू हुई जिवामे का टर्न ओवर आज 300 करोड़ से ऊपर का है। आज कंपनी में 5 हजार लॉन्जरी स्टाइल, 50 ब्रांड और 100 साइज उपलब्ध हैं। कंपनी ट्राई एट होमए फिट कंसल्टेंट और बेंगलूरु में फिटिंग लाउंज जैसी सुविधाएं भी देती है। आज कई निवेशक उनकी कंपनी में निवेश भी कर रहे हैं जिनमें टाटा, यूनीलेजर वेंचर्सए जोडियस टेक्नोलॉजी फंड और खजानाह नेशनल बेरहद भी शामिल हैं। कंपनी इस समय भारत में सभी पिन कोड पर डिलिवरी करती है। इस सफलता के लिए रिचा को साल 2014 में फॉर्च्यून इंडिया की ‘अंडर 40’ लिस्ट में शमिल किया गया।