IDBI बैंक का मुनाफा 60 फीसदी बढ़कर 927 करोड़ रुपये हुआ

IDBI

नई दिल्लीः सार्वजनिक क्षेत्र के भारतीय औद्योगिक विकास बैंक (IDBI) ने वित्त वर्ष 2022-23 की तीसरी तिमाही के नतीजे का ऐलान कर दिया है। चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) में बैंक का मुनाफा 60 फीसदी बढ़कर 927 करोड़ रुपये हो गया। एक साल पहले की समान तिमाही में बैंक ने 578 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था।

ये भी पढ़ें..PM मोदी कल बाल पुरस्कार विजेताओं के साथ करेंगे बातचीत, 11 बच्चों को करेंगे सम्मानित

IDBI बैंक ने सोमवार को शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि वित्तीय प्रावधान में कमी और ब्याज आय बढ़ने से उसका लाभ बढ़ा है। बैंक ने बताया कि तीसरी तिमाही में उसका मुनाफा 60 फीसदी बढ़कर 927 करोड़ रुपये रहा है। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में उसे 578 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। इस दौरान बैंक की शुद्ध ब्याज आय भी 23 फीसदी बढ़कर 2,925 करोड़ रुपये हो गई जबकि एक साल पहले की अवधि में यह 2,383 करोड़ रुपये रही थी।

बैंक ने बताया कि इस दौरान उसकी सकल गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) अनुपात सुधरकर 13.82 फीसदी हो गया। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 21.68 फीसदी रहा था। इसकी वजह से बैंक को तीसरी तिमाही में फंसे कर्जों के लिए 233 करोड़ रुपये का ही वित्तीय प्रावधान करना पड़ा जबकि दिसंबर, 2021 की तिमाही में यह राशि 939 करोड़ रुपये थी।

उल्लेखनीय है कि सरकार आईडीबीअई बैंक में भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के साथ मिलकर अपनी बहुलांश हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में है। सरकार और LIC दोनों की बैंक में सम्मिलित रूप से 94.71 फीसदी हिस्सेदारी है जिसमें से 60.72 फीसदी हिस्सेदारी की बिक्री के लिए संभावित निवेशकों से रुचि पत्र आमंत्रित किए गए हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)