पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए से भारत में 15 करोड़ की हेरोइन तस्करी, 3 आरोपी गिरफ्तार

15
heroin-worth-rs-15-crore-smuggled-into-india-through-drone-from-pakistan

श्रीगंगानगर: भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अनूपगढ़ जिले के समेजा कोठी थाना क्षेत्र के गांव 79 एनपी में पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए गिराई गई 15 करोड़ रुपये कीमत की तीन किलो हेरोइन के साथ तीन तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। ग्राहक बनकर सौदा तय होने के बाद पुलिसकर्मियों ने बदमाशों को धर दबोचा।

दरअसल, गांव 79 एनपी के एक खेत में तीन हेरोइन तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से दो तस्कर गांव 79 एनपीपी और 16 जीएम ढाणी के हैं। जबकि एक पंजाब से इस हेरोइन की डिलीवरी लेने अनूपगढ़ क्षेत्र में आया था। अनूपगढ़ पुलिस और श्रीगंगानगर की एसओजी चौकी पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए तीनों तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। तीनों से पूछताछ की जा रही है। मामले में हेरोइन की डिलीवरी लेने आए तस्कर गांव 79 एनपी निवासी दलवीर सिंह उर्फ ​​काला पुत्र गुरमेल सिंह जटसिख, 16 जीएम निवासी नरेश कुमार पुत्र इंद्राज मेघवाल और पंजाब के बठिंडा जिले के तलवंडी साबो निवासी गुरकरण सिंह पुत्र भगवान सिंह बाजीगर को गिरफ्तार किया गया है।

37.50 लाख में किया सौदा

भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तारबंदी के पास गांव 79 एनपी निवासी दलवीर सिंह का खेत है। दलवीर सिंह को अपने खेत में हेरोइन का पैकेट पड़ा मिला। दलवीर पेशे से ट्रक चालक है। उसने अपने साथी ट्रक चालक नरेश कुमार पुत्र इंद्राज मेघवाल को इसकी जानकारी दी। दोनों ने इसे बेचने के लिए पंजाब के तस्करों से संपर्क किया। पंजाब का तस्कर बठिंडा जिले के तलवंडी साबो निवासी गुरकरण सिंह पुत्र भगवान सिंह बाजीगर रविवार को इसे लेने आया था।

यह भी पढ़ें-मिजोरम में नशे के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, 5 करोड़ से अधिक की हेरोइन और सिगरेट जब्त

इसी दौरान श्रीगंगानगर की एसओजी चौकी और समेजा थाना पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए तीनों तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को मुखबिर के जरिए सूचना मिली कि तस्कर नरेश कुमार निवासी 16 जीएम ढाणी व दलवीर सिंह निवासी 79 एनपी के पास भारी मात्रा में हेरोइन है। तस्कर इसे लेने के लिए पंजाब से आने वाला है। इस पर पुलिस ने योजना बनाकर हेरोइन बेचने वालों व डिलीवरी लेने आए तस्कर को एक साथ पकड़ने का प्लान तैयार किया। एसओजी ने तस्कर दलवीर सिंह व नरेश कुमार से संपर्क किया। इन लोगों ने 25 लाख रुपये प्रति किलो के हिसाब से यह हेरोइन खरीदने की बात कही तो दलवीर व नरेश राजी हो गए। इन लोगों ने 1.5 किलो हेरोइन का सौदा 37.50 लाख रुपये में किया।

15 करोड़ है हेरोइन की कीमत

एसओजी ने और माल मांगा तो दलवीर व नरेश उसी कीमत पर 1.5 किलो हेरोइन और देने को तैयार हो गए। सौदा तय होने पर एसओजी टीम ने दलवीर व नरेश से पूछा कि क्या वे यह हेरोइन पंजाब में किसी को बेच सकते हैं। इस पर दलवीर व नरेश राजी हो गए। उन्होंने एसओजी को पंजाब से आने वाले तस्कर गुरकरण सिंह निवासी तलवंडी साबो के बारे में बताया। एसओजी ने तस्कर गुरकरण से संपर्क किया तो उसे कोडवर्ड बताकर पास के भारतमाला रोड पर आने को कहा। वहां उसे हेरोइन पहुंचाई जाएगी। गुरकरण कार से भारतमाला रोड पर आया। यहां कोडवर्ड बताते ही एसओजी की टीम ने उसे पहचान लिया और दबोच लिया। उसकी कार भी जब्त कर ली गई है। बरामद हेरोइन की बाजार कीमत 15 करोड़ रुपए है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)