हिमाचल प्रदेश में भारी बर्फबारी, 417 सड़कें और 253 बिजली ट्रांसफार्मर ठप

शिमला

शिमलाः हिमाचल प्रदेश में बुधवार को भी भारी बर्फबारी हुई। वहीं राजधानी शिमला सहित पर्वतीय क्षेत्रों में रुक-रुक कर हो रही बर्फबारी ने लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है। राज्य मुख्यालय से अप्पर शिमला को जोड़ने वाली सड़कों पर पिछले पांच दिन से यातायात ठप है। मौसम विभाग ने अगले चार दिन पूरे प्रदेश में मौसम के साफ रहने का अनुमान जताया है। मौसम खुलने से बंद सड़कों के बहाली कार्य में तेजी आने की संभावना है।

ये भी पढ़ें..सात करोड़ रुपये के नकली नोट के साथ 7 गिरफ्तार

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की रिपोर्ट के मुताबिक बुधवार को प्रदेश में 417 सड़कें बंद रहीं। लाहौल-स्पीति में सबसे ज्यादा 152, शिमला में 115, चम्बा में 53, कुल्लू में 39, मंडी में 38, किन्नौर में 16, सिरमौर में 6 और सोलन में 1 सड़क अवरुद्ध हैं। इसके अलावा प्रदेश भर में 253 बिजली ट्रांसफार्मर भी बंद हैं। इससे पर्वतीय क्षेत्रों के कई गांवों में अंधेरा पसरा हुआ है। कड़ाके की ठंड के बीच लोगों को बिजली किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। शिमला में 118, चम्बा में 61, सिरमौर में 32, सोलन में 20, कुल्लू में 16 और किन्नौर में 4 ट्रांसफार्मर ठप हैं। बर्फबारी से चंबा में 42, शिमला में 33 और लाहौल-स्पीति में 31 पेयजल स्कीमें प्रभावित हुई हैं।

इस बीच मौसम विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटों में मजिन खदराला में 15, सांगला में 11, निचार में 10, कुफरी, कल्पा, शिमला व सराहन में 6-6, बिजाई, शिलारू व मोरंग में 5-5 सेंटीमीटर बर्फ गिरी है। बर्फबारी के कारण पूरा प्रदेश शीतलहर की चपेट में है। कई जगह पारा माइनस में है। केलांग में न्यूनतम तापमान -13.3, कल्पा में -5, कुफरी में -3, मनाली में -1.8, डलहौजी में -1.1 और शिमला में शून्य डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक सुरेंद्र पाल ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के कमजोर पड़ने से अब बर्फबारी का सिलसिला थमेगा और मौसम के खुलने के आसार हैं। 27 से 30 जनवरी तक पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहेगा। मैदानी भागों में 27 जनवरी को घना कोहरा छाने का पूर्वानुमान है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)