कोरोना वैक्सीन लेने वाले पहले जनप्रतिनिधि बने पूर्व मंत्री महेश शर्मा

35

नोएडाः उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर से भाजपा के लोकसभा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा कैलाश अस्पताल में एक चिकित्सक के रूप में कोविड वैक्सीन लेने वाले पहले जनप्रतिनिधि बन गए हैं। यहां अस्पताल में शनिवार सुबह कोविड वैक्सीन लेने वाले कई स्वास्थ्य कर्मचारियों में से महेश शर्मा पहले व्यक्ति थे। अस्पताल में 100 लोगों को कोविड वैक्सीन दिए जाने के अभियान से पहले पूरी तैयारी की जा चुकी थी। वैक्सीन लेने वाले लोगों में शर्मा भी शामिल हैं, जो अस्पताल समूह के मालिक भी हैं।

यह भी पढ़ें-रायपुर के पांच केंद्रों में शुरू हुआ कोविड-19 टीकाकरण अभियान

महेश शर्मा ने कहा कि मैं कोविड का वैक्सीन एमओ या जनप्रतिनिधि के रूप में नहीं, बल्कि एक डॉक्टर के रूप में ले रहा हूं। शर्मा ने कहा कि मैं इस पेशे में पिछले 35 वर्षो से काम कर रहा हूं और हमें अपने वैज्ञानिकों की सराहना करनी चाहिए, जिन्होंने दो वैक्सीन तैयार किए हैं। हमें पिछले 352 दिनों में हमारे प्रधानमंत्री और हमारे देश के कोविड योद्धाओं के नेतृत्व को भी सलाम करना चाहिए, जिन्होंने कोविड महामारी का मुकाबला करने के लिए काम किया है। अस्पताल में टीका लगाने वाले लोगों की सूची दिखाते हुए शर्मा ने कहा कि मेरा नंबर सूची में सबसे ऊपर है जो सरकार की ओर से आया है। वैक्सीन लेने के बाद शर्मा को 30 मिनट के लिए अवलोकन कक्ष में भेजा गया।

वैक्सीनेशन के बाद उन्होंने कहा कि मैं अच्छा महसूस कर रहा हूं और मैंने कोई दुष्प्रभाव नहीं देखा है। उन्होंने लोगों से यह भी आग्रह किया कि वे घबराएं नहीं, क्योंकि भारत में बनी वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है। अस्पताल में कोविड टीकाकरण की तैयारी देख रहे वरिष्ठ प्रशासक एस.एन. दुबे ने बताया कि हमने आज वैक्सीन के लिए आने वाले लोगों के लिए पूरी व्यवस्था की है। व्यवस्थाओं के बारे में बताते हुए दुबे ने कहा कि वैक्सीन के लिए सात काउंटर हैं और वैक्सीन ड्राइव में भाग लेने वाले लोगों के लिए तीन ऑब्जर्वेशन रूम हैं। प्रत्येक ऑब्जर्वेशन रूम में एक मॉनिटर सिस्टम के साथ 25 कुर्सियां और एक बेड है।