पहली बार नदी मार्ग से जुटाया जा रहा ब्रह्मपुत्र का डाटा

53

 

जोधपुरः केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने आमजन से नदियों को स्वच्छ बनाए रखने का आह्वान किया। ब्रह्मपुत्र आमंत्रण अभियान के रिवर राफ्टिंग दल का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य पानी, कीचड़ आदि को जमाकर अनुसंधान करना और वैज्ञानिक डाटा एकत्र करना है।

यह भी पढ़ें-राहुल की लोगों से अपील, किसानों के हक में उठाएं आवाज, शेयर किया ये वीडियो

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने केंद्र सरकार द्वारा ब्रह्मपुत्र नदी के लिए उठाए जा रहे कदमों की जानकारी साझा की। शेखावत ने कहा कि ब्रह्मपुत्र का पानी अभी भी काफी साफ है। अगर इस नदी को स्वच्छ बनाए रखना है तो इसे प्लास्टिक और कचरे से मुक्त होना होगा। उन्होंने बताया कि अब तक ब्रह्मपुत्र को लेकर जो भी डाटा एकत्र किया गया है, वह सडक मार्ग से यात्रा करके एकत्र किया गया है। पहली बार डाटा जुटाने के लिए नदी मार्ग का उपयोग किया जा रहा है।

माछखोवा स्थित प्रोग्ज्योति आईटीए सेंटर में रिवर राफ्टिंग टीम के गुवाहाटी पहुंचने पर स्वागत समारोह का आयोजन किया गया।  दल ने गुवाहाटी में पारंपरिक माघ बिहू मनाया। कामाख्या और उमानंद मंदिरों का दौरा किया। समारोह के दौरान एनडीआरएफ की ओर से आपातकाल में प्रयोग होने वाले संसाधनों की प्रदर्शनी भी लगाई गई। रिवर राफ्टिंग अभियान की टीम लीडर सुहासिनी शेखावत ने कहा कि रिवर राफ्टिंग का यह अभियान 29 दिनों तक चलेगा जो 917 किलोमीटर की कुल यात्रा पूरी करने के बाद धुबरी जिले की भारत-बांग्लादेश सीमा पर समाप्त होगा। समारोह में असम के उद्योग एवं वाणिज्य आदि मामलों के मंत्री चंद्रमोहन पटवारी, एनडीआरएफ के महानिदेशक एस.एन. प्रधान, एनडीआरएफ (पूर्व और उत्तर पूर्व) के उप महानिरीक्षक मनोज कुमार यादव, प्रथम एनडीआरएफ के कमांडेंट आर.एस. गिल, प्रथम बटालियन एनडीआरएफ के अधिकारी व जवान और ब्रह्मपुत्र बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।