फिल्मी ‘तांडव’ बनाम राजनीतिक ‘महा तांडव’

129

वेब सीरीज ‘तांडव’ पर इस समय महा तांडव मचा हुआ है। कई राजनीति दलों सहित एक विशेष समुदाय में इस वेब सीरीज को लेकर खासा गुस्सा देखने को मिल रहा है। अली अब्बास ज़फर द्वारा निर्देशित और सैफ अली ख़ान अभिनीत वेब सीरीज तांडव को लेकर जिस तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं, उससे यह साफ होता है कि इस वेब सीरीज को लेकर अगर पहले से ही दखल दी जाती तो शायद तांडव को लेकर इतना कोहराम नहीं मचता, जितना अभी मचा हुआ है।

सैफ अली ख़ान अभिनीत ‘तांडव’ के रिलीज होने के महज दो दिन बाद ही इसे लेकर जिस तरह का विरोध प्रदर्शित हो रहा है, उससे साफ है कि वेब सीरिज तांडव पर मचा कोहराम अभी और तेज होगा। तांडव ने अभी से ही महा तांडव का रूप धारण कर लिया है। मुंबई में भाजपा विधायक राम कदम के नेतृत्व में तांडव के खिलाफ मोर्चा निकाला, धरना प्रदर्शन हुआ और आने वाले समय में इसे लेकर और कितना कोहराम मचेगा, कुछ कहा नहीं जा सकता है। वेब सीरीज तांडव के रिलीज होने के बाद महाराष्ट्र के भारतीय जनता पार्टी के विधायक राम कदम ने सीरीज के निर्माता के खिलाफ हिंदू- देवताओं के अपमान का आरोप लगाते हुए मुंबई के घाटकोपर उपनगर पुलिस थाने में शिकायत भी दर्ज करवाई है।

महाराष्ट्र के भाजपा सांसद मनोज कोटक ने भी केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखकर ‘तांडव’ पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। मुंबई में अभिनेता सैफ अली खान के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। अभी सिर्फ तीन ही दिन पहले अमेज़न प्राइम वीडियो पर रिलीज़ किए गए तांडव वेब सीरीज में दिखाए गए कुछ दृश्यों को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। तांडव ने देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध रुपी महा तांडव शुरु कर दिया है। वेब सीरिज के निर्देशक के खिलाफ केस भी दर्ज करवाया गया है। सोशल मीडिया पर तांडव को प्रतिबंधित करने की मांग भी गति पकड़ रही है। तांडव वेब सीरीज में भगवान शिव और भगवान श्री राम को अपमानित किया गया है, जिसे लेकर हिंदु संगठनों समेत भगवान शिव तथा भगवान श्री राम के प्रति आस्था रखने वालों में भयंकर गुस्सा है।

तांडव में दिखाए गए दृश्यों तथा संवादों को लेकर लोगों का गुस्सा इतना ज्यादा बढ़ गया है कि लोग वेब सीरीज में किरदार निभाने वाले कलाकारों के पुतले फूंककर अपना विरोध दर्ज करवा रहे हैं। सैफ अली खान-डिंपल कपाड़िया की वेब सीरीज ‘तांडव’ के बारे में जिस तरह की धारणा देखने वालों की पहले तीन दिन में बनी और लोगों का गुस्सा जिस तरह से सामने आया है, उससे इस बात का अंदाजा लगाया जाने लगा है कि जब तक वेब सीरीज के विवादित दृश्यों और संवादों को नहीं हटाया जाएगा, तब तक तांडव को लेकर शुरु हुआ महा तांडव जारी रहेगा।

इस वेब सीरीज पर दिखाए गए कुछ दृश्यों को लेकर जिस तरह का वबंडर उठा है, उसे अगर शांत करना है तो सबसे पहले फिल्म के निर्माता-निर्देशक के साथ-साथ तांडव में जिन-जिन कलाकारों ने अभिनय किया है, वे सभी माफी मांगें और अगर तांडव को सोशल मिडिया पर बनाए रखना है तो तांडव में जो कुछ भी आपत्तिजनक है, उस पर तुरंत कैंची चलायी जाए, अगर तांडव के आपत्तिजनक दृश्यों तथा संवादों को नहीं हटाया गया तो इसके परिणाम बड़े भयंकर होंगे। तांडव को लेकर जो विवाद सामने आया है, वह विवाद वेब सीरीज के पहले एपिसोड में दिखाये गए एक दृश्य को लेकर है, इस दृश्य में अभिनेता मोहम्मद जीशान अयूब को भगवान शिव का किरदार निभाते हुए दिखाया गया और वे यूनिवर्सिटी के छात्रों को संबोधित करते हुए कहते हैं आखिर आपको किससे आजादी चाहिए, उनके मंच पर आते ही मंच संचालक कहता है, नारायण-नारायण।

प्रभु कुछ कीजिए, राम जी के फॉलोअर्स लगातार सोशल मीडिया पर बढ़ते ही जा रहे हैं, इसके साथ ही एक और विवादित डायलॉग की बात करें तो, कॉलेज का एक युवा लड़की से कहता है, जब एक छोटी जाति का आदमी एक ऊंची जाति की औरत को डेट करता है, न तो वह बदला ले रहा होता है, सिर्फ उस एक औरत से। वेब सीरीज ‘तांडव’ को लेकर जारी विवाद के बीच सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने भारत में अमेजन प्राइम वीडियो के अधिकारियों से इस बारे में पूछताछ भी शुरु कर दी है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने सीरीज के निर्माताओं और स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस मामले में गिरफ्तारी की चेतावनी दी है। कहा जा रहा है कि तांडव बेवसीरिज में सैफ अली खान तथा डिंपल कपाड़िया जैसे कलाकार अभिनय कर रहे हों, उसमें अगर किसी धर्म के लोगों की आस्था पर ठेस पहुंचाने का काम किया जा रहा हो, तो इसे भला सैफ अली खान तथा डिंपल कपाडिया जैसे कलाकारों ने कैसे बर्दाशत किया। सैफ अली खान मुस्लिम हैं, लेकिन उनकी मां का रिश्ता तो हिंदु परिवार से रहा है। जहां तक डिंपल कपाड़िया का सवाल है वे तो हिंदु परिवार की है, ऐसे में उनके अभिनय से युक्त फिल्म में हिदु देवताओं का अगर अपमान हो रहा हो तो यह ठीक नहीं है।

मनोरंजन के नाम पर कुछ भी दिखाने और उस पर हंसने वाले चंद लोग हो सकते हैं, लेकिन भारतीय जनमानस का अधिकांश हिस्सा इस तरह की बातों पर अपनी नारज़गी ही व्यक्त करता है। तांडव को लेकर महाराष्ट्र भाजपा की ओर से प्रतिक्रिया के तौर पर जो कुछ किया वह आस्था के प्रति बरती जा रही लापरवाही का एक जीवंत प्रमाण है। भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं ने आरोप लगाया है कि वेब सीरीज में हिन्दू भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई है। इस मुद्दे पर मुंबई में भाजपा की ओर से विरोध प्रदर्शन किया गया, जिसकी अगुवाई भाजपा नेता राम कदम ने की। भाजपा नेता राम कदम की ओर से ट्वीट कर जानकारी दी गई कि उन्होंने सोमवार को मुंबई में अमेजन के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी है।

यह भी पढ़ेंः-यूपी में पांच साल में सिमट गया पंचायतों का दायरा, जिला पंचायतों के कई वार्ड खत्म

तांडव में हिंदु देवताओं को अपमानित किए जाने पर महाराष्ट्र भाजपा के नेता इतने नाराज हुए हैं उन्होंने इस मुद्दे पर अमेजन के खिलाफ खुली जंग छेड़ दी है। भाजपा नेता कपिल मिश्रा की ओर से अमेजन को एक लीगल नोटिस भी भेजा गया है और तांडव वेब सीरीज को तुरंत हटाने की मांग की गई है। घटिया वेब सीरीज की आड़ में नफरत फैलाने वाली वेब सीरीज तांडव की पूरी टीम के खिलाफ योगी जी के उत्तर प्रदेश में गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया गया है और जल्दी ही तांडव के माध्यम से आस्था पर ठेस पहुंचाने वालों की गिरफ्तारी की जाएगी। तांडव के पहले अक में 17 वें मिनट में हिंदू देवी-देवताओं को बेहद विद्रूप ढ़ंग से रूप धारण कर धर्म से जोड़कर अमर्यादित तरीके से देवी-देवताओं के खिलाफ बोलते हुए दिखाया गया है, इतना ही इसमें जिस भाषा का उपयोग किया गया है, उसका स्तर बहुत ही निम्न है। अमेज़न प्राइम वीडियो की वेब सीरीज तांडव को लेकर राजनीतिक घमासान तेज हो गया है। तांडव वेबसीरीज में सैफ अली खान, अयूब जीशान, तिग्मांशु धूलिया, डिंपल कपाड़िया मुख्य भूमिका में हैं, इन सभी कालकारों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है और माना जा रहा है कि तांडव में किरदार निभाने वाले सभी कलाकार बेवसीरीज के आपत्तिजनक सभी दृश्यों को हटाने की मांग करेंगे।

सुधीर जोशी ( महाराष्ट्र)