दीनानाथ झुनझुनवाला के कई ठिकानों पर ईडी की छापेमारी, कई घंटे चली छानबीन

40
ed-raids-various-locations

वाराणसीः प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शुक्रवार को उद्योगपति दीनानाथ झुनझुनवाला के जौनपुर और वाराणसी के नाटी इमली स्थित आवास और अन्य व्यावसायिक परिसरों पर छापेमारी की। इस दौरान किसी को भी आवास और प्रतिष्ठानों पर जाने की इजाजत नहीं दी गई। ईडी के अधिकारियों ने कई घंटों तक विभिन्न दस्तावेज, कंप्यूटर और लैपटॉप खंगाले।

2020 में दर्ज किया गया थे मामला

छापेमारी में स्थानीय पुलिस का सहयोग नहीं लिया गया। सूत्रों ने बताया कि ईडी ने बैंक लोन धोखाधड़ी के मामले में यह कार्रवाई की है। छापेमारी में टीम ने झुनझुनवाला परिवार और उनके व्यवसाय प्रबंधन से जुड़े लोगों के मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस भी जब्त किए। झुनझुनवाला के वाराणसी स्थित आवास पर 15 से अधिक अधिकारियों की टीम ने बैंक लोन से जुड़ी फाइलें और कंपनी की संपत्तियों का ब्योरा भी देखा। बैंक लोन धोखाधड़ी के मामले में 2020 में केस दर्ज किया गया था।

यह भी पढ़ेंः-कुरान की बेअदबी पर भीड़ ने व्यक्ति को थाने से निकालकर जिंदा जलाया

इससे पहले भी हुई थी छापेमारी

बैंक लोन फर्जीवाड़े में जेवीएल एग्रो लिमिटेड ग्रुप के मालिक दीनानाथ झुनझुनवाला की वाराणसी के नाटी इमली, सारनाथ, सिंधौरा रोड और जौनपुर व बिहार स्थित फैक्ट्रियों पर छापेमारी की गई। जेवीएल एग्रो लिमिटेड ग्रुप ने बैंक ऑफ बड़ौदा व अन्य बैंकों से लोन लिया था, जिसे वापस नहीं किया गया। करीब पांच साल से बैंकों की ओर से कंपनी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जा रही है। वर्ष 2019 में सीबीआई ने दीनानाथ के आवास व कार्यालय पर छापेमारी भी की थी।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)