डेंगू के मरीज को इन चीजों का करना चाहिए सेवन, जानें इससे बचाव के तरीके

नई दिल्लीः बारिश का मौसम चल रहा है। इन दिनों में मच्छरों का आतंक हर साल बढ़ जाता है। तापमान में लगातार उतार-चढ़ाव भी हो रहा है। ऐसे में डेंगू का भी खतरा बढ़ जाता है। डेंगू को लेकर विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत होती है। कैसे डेंगू से बचे रहें, इस पर ध्यान देने की जरूरत है। डेंगू के मच्छर दिन में काटते हैं, इसलिए इससे बचाव पर फोकस करना चाहिए। डेंगू के सिर्फ गंभीर मरीजों को ही भर्ती करने की जरूरत पड़ती है। डेंगू से बचाव का एकमात्र उपाय है सफाई। अगर घर के आसपास सफाई रहेगी तो इस बीमारी से दूर रहा जा सकता है। इसलिए नियमित तौर पर घर एवं आसपास सफाई पर विशेष ध्यान दें।

डेंगू के लक्षण
आंखों के पीछे दर्द होना, हड्डियों के जोड़ों पर भयानक दर्द होना, डेंगू के गंभीर मरीज में प्लेटलेट्स काफी कम होना, सिर में दर्द होना, तेज बुखार होना। इसके साथ ही त्वचा पर लाल धब्बे या चकते का निशान, नाक-मसूढ़ों से या उल्टी के साथ रक्तस्राव होना भी डेंगू के लक्षण हैं।

ये भी पढ़ें..CWG 2022: भारत के लिए यादगार रहा चौथा दिन, सुशीला देवी…

इस तरह करें डेंगू से बचाव
शरीर को पूरी तरह से ढकने वाला कपड़ा पहनें। शरीर का जो हिस्सा ढका नहीं है, उस पर मच्छर भगाने वाला क्रीम लगाएं। साथ ही मच्छरदानी का प्रयोग करें। ऐसा करते रहने से डेंगू से बचे रहेंगे। घर के सभी कमरों को साफ-सुथरा रखें। टूटे-फूटे बर्तनों, कूलर, एसी, फ्रीज में पानी जमा नहीं होने दें। पानी टंकी और घर के आसपास अन्य जगहों पर भी पानी नहीं जमने दें। घर के आसपास साफ-सफाई का ध्यान रखें और कीटनाशक दवा का इस्तेमाल करें। गमला, फूलदान का पानी हर दूसरे दिन बदल दें। जमे हुए पानी पर मिट्टी का तेल डालें।

डेंगू होने पर इन चीजों का करें सेवन
डेंगू होने पर तेजी से प्लेटलेट्स तेजी से गिरता है। इसलिए डेंगू के मरीज को ज्यादा से ज्यादा आराम करना चाहिए। साथ ही दिन भर में दो-तीन लीटर पानी जरूर पीना चाहिए। इससे शरीर हाइड्रेटेड होगा और पाचन में भी मदद मिलेगी। आंवला, कीवी, संतरे और अनानास जैसे विटामिन सी से भरपूर फलों का सेवन करना चाहिए और सब्जियों का सूप भी पीना चाहिए। घर पर बना हुआ हल्का सुपाच्य भोजन ही करना चाहिए। जंकफूड के सेवन से बचना चाहिए। डेंगू के मरीज को पपीते के पत्तों का जूस पिलाना चाहिए। इसे पीने से प्लेटलेट्स काफी तेजी से बढ़ते हैं। अगर इस जूस आपको कड़वा लगे तो आप इसमें थोड़ा सा शहद मिला सकते हैं। इसके अलावा आंवला, गिलोय का भी जूस काफी फायदेमंद होता है। इनके सेवन से प्लेटलेट्स और रोग प्रतिरोधक क्षमता में तेजी से इजाफा होता है और मरीज जल्दी ही ठीक हो जाता है।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक औरट्विटरपर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…