अमिताभ बच्चन की आवाज वाली कोरोना कॉलर ट्यून हटाने की मांग, कोर्ट पहुंचा मामला

72
Amitabh Bachchan

नई दिल्लीः दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका दायर कर मांग की गई है कि मोबाइल फोन के कॉलर ट्यून में अमिताभ बच्चन की आवाज में कोरोना को लेकर जागरुकता संदेश को हटाया जाए। हाईकोर्ट इस याचिका पर 18 जनवरी को सुनवाई करेगा।

याचिका सामाजिक कार्यकर्ता राकेश ने दायर किया है। सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता की ओर से वकील एके दुबे और पवन कुमार ने इस कॉलर ट्यून के लिए अमिताभ बच्चन की आवाज को चुनने पर सवाल खड़े किए । उन्होंने कहा कि कॉलर ट्यून के लिए चयन करते समय उन कोरोना वारियर्स का ध्यान नहीं रखा गया जो आज संकट की घड़ी में अपनी जान की परवाह किए बिना काम कर रहे हैं।

याचिका में कहा गया है कि कई सारे कोरोना वारियर्स ने गरीबों और जरूरतमंद लोगों को मदद करने के लिए अपनी पूरे जीवन की कमाई लगा दी। वे देश को अमूल्य सेवा दे रहे हैं। ये कोरोना वारियर्स गरीबों और आश्रयहीन लोगों को भोजन, कपड़े इत्यादि मुहैया करा रहे हैं। याचिका में कहा गया है कि अमिताभ बच्चन का इतिहास साफ-सुथरा नहीं रहा है और उन्होंने कई नियमों का उल्लंघन किया है। अमिताभ बच्चन किसी सामाजिक कार्यकर्ता की तरह देश की सेवा भी नहीं कर रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः-बर्ड फ्लू : दो दिनों में 60 फीसदी घटी चिकन, अंडे की मांग, पूरे देश पर पड़ा असर

याचिका में कहा गया है कि याचिकाकर्ता ने इस बाबत केंद्र सरकार को 24 नवम्बर, 2020 को प्रतिवेदन भी दिया था, लेकिन इसका न तो कोई उत्तर दिया गया और न ही समाधान किया गया। याचिका में कहा गया है कि कॉलर ट्यून के लिए अपनी आवाज देने के लिए अमिताभ बच्चन ने पैसे लिये हैं, ऐसे में उनका यह काम समाज सेवा नहीं कहा जा सकता है।