दिल्ली Featured

दिल्ली सरकार के मंत्री राजकुमार आनंद ने दिया इस्तीफा, भ्रष्टाचार को लेकर AAP पर उठाए सवाल

rajkumar-anand-resigns

Delhi: दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजकुमार आनंद ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर आम आदमी पार्टी की नीति का विरोध करते हुए बुधवार को मंत्री पद और पार्टी से इस्तीफा दे दिया।


भ्रष्टाचार के मुद्दे पर उठाए सवाल


प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आनंद ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर आम आदमी पार्टी के रवैये पर सवाल उठाए। उन्होंने दलित और पिछड़े वर्ग के प्रतिनिधित्व का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी देश में राजनीति बदलने का लक्ष्य लेकर आई है। हालाँकि राजनीति नहीं बदली, राजनेता बदल गए। जो पार्टी भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन कर रही थी वह खुद भ्रष्टाचार के दलदल में फंस गयी है। ऐसे में उनका पार्टी में रहना असहनीय हो गया और उन्होंने इस्तीफा दे दिया। 

यह भी पढ़ेंः-लोकसभा चुनाव 2024: फिर उठी जैतपुर को नगर पंचायत बनाने की मांग, हर बार होता है वादा


अंबेडकर के आदर्शों पर नहीं चल रही पार्टी


आनंद ने पिछड़ों के प्रतिनिधित्व का मुद्दा उठाते हुए कहा कि बाबा साहब अंबेडकर की तस्वीर लगाने वाली पार्टी उनके आदर्शों पर नहीं चल रही है। आरक्षण एक मजबूरी है लेकिन जहां आरक्षण नहीं है, वहां पार्टी दलितों और पिछड़े वर्गों को प्रतिनिधित्व देने में विफल रही है। उन्होंने कहा कि आप द्वारा राज्यसभा में भेजे गए सांसदों में एक भी दलित, पिछड़ा वर्ग या महिला नहीं है। हाल ही में विधानसभा में फेलो की भर्ती की गई। इसमें भी दलितों और पिछड़ों को भर्ती नहीं किया गया।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)