Delhi: कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों ने जारी की एडवाइजरी, ‘हाथ, पैर और मुंह’ के रोगों को लेकर भी सतर्कता

स्कूल

नई दिल्लीः दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों ने एक बार फिर अतिरिक्त सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है। दिल्ली के लगभग सभी स्कूलों ने इस संबंध में अपने छात्रों को एडवाइजरी जारी की है। दिल्ली के कई स्कूलों में अब बकायदा छात्रों की टेंपरेचर जांच के उपरांत ही उन्हें स्कूल में प्रवेश की अनुमति दी जा रही है। इसके अलावा स्कूलों ने ऐसे छात्रों से फिलहाल स्कूल न आने का अनुरोध किया है जो सर्दी, जुखाम, बुखार आदि से ग्रस्त हैं। वहीं राजधानी दिल्ली के कुछ स्कूलों ने हैंड फुट एंड माउथ डिजीज (एचएफएमडी) के मामलों में बढ़ोतरी के बीच, माता-पिता को वायरल संक्रमण के बारे में जागरूक किया है। यह वायरल संक्रमण 10 साल से कम उम्र के छोटे बच्चों को प्रभावित करता है। कुछ स्कूलों ने इसको लेकर भी एडवाइजरी जारी की है।

ये भी पढ़ें..22 साल में 8वीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे नीतीश कुमार, मंत्रिमंडल को लेकर चर्चाएं तेज

दरअसल, दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में फिर से तेजी आई है बीते 24 घंटे के दौरान दिल्ली में कोरोना से 7 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। वही कोरोना पॉजिटिव मामलों की बात की जाए तो बीते 24 घंटे के दौरान ही दिल्ली में कोरोना जांच के दौरान 2495 कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति पाए गए हैं। दिल्ली में बीते 24 घंटे के दौरान 16187 व्यक्तियों की कोरोना जांच की गई थी। इस हिसाब से दिल्ली में कोरोना की पॉजिटिविटी दर 15.41 फीसदी हो गई है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ भी मानते हैं कि कोरोना पॉजिटिविटी दर 15 फीसदी होना चिंता का विषय है। स्वयं दिल्ली सरकार ने भी स्कूलों समेत अन्य सभी सार्वजनिक स्थलों पर सावधानी बरतने की अपील की है। दक्षिण दिल्ली के लोधी रोड स्थित एयर फोर्स बाल भारती स्कूल ने अपने छात्रों के लिए एडवाइजरी जारी करते हुए सभी अभिभावकों से अपील की है कि वे सर्दी खांसी जुखाम या बुखार आने की स्थिति में अपने बच्चों को स्कूल न भेजें। स्कूल ने अपनी आधिकारिक एडवाइजरी में यह भी कहा है यदि को किसी प्रकार की एलर्जी या फिर शरीर पर लाल निशान आदि दिखाई देते हैं तो ऐसी स्थिति में भी वह छात्र स्कूल न आए।

हैंड फुट एंड माउथ बीमारी को लेकर संस्कृति स्कूल ने कहा कि स्कूल ने अपनी वेबसाइट पर अभिभावकों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है। इसे अभिभावकों के बीच प्रसारित किया गया है। स्कूल का कहना है कि ‘हाथ, पैर और मुंह’ की बीमारी के लिए हम अभिभावकों के लिए पहले ही एडवाइजरी जारी कर चुके हैं। “हमने माता-पिता को क्या करें और क्या न करें और बच्चों को स्कूल भेजते समय उन्हें क्या उपाय करने चाहिए, के बारे में सूचित किया है।”

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)