आंदोलन में शामिल उत्तर प्रदेश के किसान का निधन, किसानों में शोक की लहर

71

गाजियाबादः कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 36 दिनों से गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन में शामिल 57 वर्षीय एक किसान की मौत हो गई। इससे किसानों में शोक की लहर है। आंदोलन के दौरान अब तक कुल 41 किसान काल के गाल में समा चुके है। किसानों ने मरने वाले किसान को श्रद्धांजलि देने के बाद शव को उनके गांव अंतिम संस्कार के लिए भेज दिया। गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने आज सफाई अभियान चलाया ।

पिछले 36 दिनों से पूरे देश में कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर किसानों का यह आंदोलन चल रहा है । दिल्ली के सीमा पर चौतरफा किसान डेरा जमाए बैठे हैं । इसी कड़ी में गाजीपुर बार्डर पर धरने में शामिल बागपत निवासी किसान गलतान सिंह (57) की मृत्यु हो गई। इसके बाद किसानों में रोष फैल गया। किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत समेत तमाम किसानों ने दिवंगत किसान को श्रद्धांजलि दी और उसके बाद अंतिम संस्कार के लिए उसके पार्थिव शरीर को गांव भेज दिया ।

यह भी पढ़ेंः-पार्टी नेतृत्व पर बोले सलमान खुर्शीद, ‘राहुल ही हमारे नेता, बस उनके फैसले का इंतजार’

दूसरी ओर आज किसानों ने सुबह सफाई अभियान चलाकर देश को स्वच्छ रखने का आह्वान किया। किसानों ने कहा कि हम संकल्प लेते हैं कि हम अपने हकों की लड़ाई के लिए लड़ते रहेंगे और देश को गंदा भी नहीं होने देंगे।