10 हजार से ज्यादा सैनिकों को दी गई कोरोना वैक्सीन, रक्षा मंत्रालय ने दी जानकारी

मॉस्कोः रूस की सेना के 10 हजार से अधिक सैनिकों को कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी दी गई है। रक्षा मंत्रालय को 14,500 वैक्सीन दी गई थी। वैक्सीन के सफल क्लीनिकल ट्रायल्स और वैक्सीन लगाए जाने के बाद सैनिकों में विकसित हुई इम्यूनिटी वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभाविकता सिद्ध करती है। इसी कारण से किसी भी सैनिक ने वैक्सीन लगवाने पर एतराज नहीं जताया है।

रूस के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता मेजर जनरल इगोर कोनाशेंकोव ने कहा कि रूस के रक्षा मंत्री सरगेई शोइगू द्वारा स्वीकृत की गई योजना के अनुसार साल के अंत तक लगभग एक लाख सैनिकों को वैक्सीन लगाई जानी है। मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार सेना के डॉक्टरों की 300 ब्रिगेड को वैक्सीनेशन के लिए लगाया गया है। उल्लेखनीय है कि रूस ने अपनी कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी को सबसे पहले अगस्त में पंजीकृत कराया था।

बता दें कि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के आदेश देने के तीन दिन के भीतर पिछले हफ्ते शनिवार को रूस में कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए सार्वजनिक टीकाकरण अभियान शुरू हो गया था। सबसे पहले डॉक्टरों, शिक्षकों और ज्यादा खतरा झेल रहे अन्य लोगों को वैक्सीन दी जाएगी, ऐसा बताया गया था। वहीं, रूस कोविड से बचाव के लिए टीकाकरण शुरू करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है।

यह भी पढ़ेंः-कला और संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए योगी सरकार की बड़ी पहल, शुरू होगी ये योजना

पुतिन ने देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में भारी बढ़ोतरी को देखते हुए जल्द टीकाकरण शुरू करने का आदेश दिया था। रूस ने यह टीकाकरण अभियान स्वविकसित वैक्सीन स्पुतनिक वी का परीक्षण काल पूरा होने से पहले ही शुरू कर दिया है। रूस में इस समय वैक्सीन की 20 लाख खुराक तैयार हैं।