उत्तर प्रदेश

कॉमेडियन श्याम रंगीला का पर्चा खारिज, पीएम मोदी के खिलाफ किया था नामंकन

comedian-shyam-rangeela-had-filed-nomination

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का सपना देख रहे मिमिक्री आर्टिस्ट श्याम रंगीला का नामांकन जांच के बाद खारिज कर दिया गया। इस बात से कॉमेडियन श्याम रंगीला निराश हैं। नामांकन खारिज होने के बाद श्याम रंगीला ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट एक्स पर अपनी भावनाएं व्यक्त कीं। उन्होंने लिखा कि यह तय था कि उन्हें वाराणसी से लड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी, अब यह स्पष्ट हो गया है। दिल जरूर टूटा है, हौसला नहीं टूटा।

आपके सभी के सहयोग के लिए धन्यवाद। मीडिया और शुभचिंतकों से अनुरोध है कि कृपया अभी फोन न करें, मेरे पास जो भी जानकारी होगी मैं यहां देता रहूंगा, शायद अब थोड़ी देर बातचीत करने की इच्छा नहीं है।

33 अन्य के भी पर्चे खारिज

गौरतलब है कि श्याम रंगीला ने नामांकन प्रक्रिया के आखिरी दिन 14 मई को वाराणसी संसदीय सीट से अपना नामांकन दाखिल किया था। पिछले बुधवार को वाराणसी कलक्ट्रेट सभागार में नामांकन पत्रों की जांच सुबह 11 बजे शुरू हुई और रात 10 बजे तक चली। जिसमें जांच में श्याम रंगीला समेत 33 प्रत्याशियों का नामांकन पत्र खारिज कर दिया गया। इनमें बीजेपी के पूर्व विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय राय की पत्नी रीना राय का नामांकन पत्र शामिल है। नामांकन दाखिल करने वाले 41 अभ्यर्थियों में से कुल 08 अभ्यर्थियों के नामांकन पत्र वैध पाये गये। इनमें प्रधानमंत्री और भाजपा प्रत्याशी नरेंद्र मोदी, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और इंदिया प्रत्याशी अजय राय, बसपा प्रत्याशी अतहर जमाल लारी, अपना दल कमेरावादी से गगन प्रकाश, राष्ट्रीय समाजवादी जन क्रांति पार्टी से पारस नाथ केशरी, युग तुलसी पार्टी से कोली शेट्टी शिवकुमार शामिल हैं। निर्दलीयों में संजय कुमार तिवारी और दिनेश कुमार यादव शामिल हैं।

यह भी पढ़ेंः-Rajnath Singh की पहल से जाम मुक्त हुआ लखनऊ, फ्लाईओवर व अंडरपास का पूरा किया वादा

निर्वाचन कार्यालय के अनुसार, नामांकन पत्रों की जांच के लिए शपथ पत्र में गड़बड़ी, नामांकन पत्र गलत तरीके से भरने सहित कई कारणों से नामांकन पत्र खारिज कर दिया गया। शपथ पत्र में आपराधिक मामले से संबंधित पैराग्राफ में भी त्रुटि पायी गयी। 17 मई को अपराह्न तीन बजे तक नामांकन पत्रों की वापसी होगी। इसके बाद तस्वीर साफ हो जाएगी कि प्रमुख पार्टियों के अलावा कौन-कौन से उम्मीदवार चुनावी मैदान में होंगे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)