‘जय बदरी, जय केदार’ के उद्घोष के बीच CM धामी ने चार धाम यात्रा के लिए बसों को किया रवाना

29

cm-pushkar-singh-dhami

ऋषिकेशः उत्तराखंड में शुक्रवार से चारधाम यात्रा 2023 का आगाज हो गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ऋषिकेश आईएसबीटी से ’’जय बद्री, जय केदार, चारों धामों में हो रही जय जयकार’’ के उद्घोष के बीच बसों के काफिले को हरी झंडी दिखाकर रवाना कर चारधाम यात्रा का शुभांरभ किया। इस मौके पर वन मंत्री सुबोध उनियाल, परिवहन मंत्री चंदन रामदास, शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, नगर निगम महापौर अनीता ममगांई, हंस फाउंडेशन के संस्थापक भोले महाराज उपस्थित थे।

इस दौरान संयुक्त रोटेशन यात्रा व्यवस्था समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि कोरोना काल के बाद दूसरी बार हो रही यह यात्रा पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ेगी। अभी तक 16 लाख से अधिक यात्रियों ने अपना पंजीकरण करा लिया। यात्रियों को सभी सुविधाएं उपलब्ध हों, इसकी तैयारियां की हैं। सरकार ने इस प्रकार की व्यवस्था की है कि कोई भी यात्री बिना दर्शन करे वापस नहीं जाएगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा केदारनाथ में किए गए जीर्णोद्धार कार्य की प्रशंसा की। इसी के साथ उन्होंने बद्रीनाथ में हो रहे विकास कार्यों के अतिरिक्त हेमकुंड जाने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए बनाए जा रहे रोपवे पर कार्य भी जल्द पूरा किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि गंगोत्री-यमुनोत्री के विकास के लिए भी सरकार कटिबद्ध है।

ये भी पढ़ें..Gujarat: नरोदा गाम दंगा मामले कोर्ट का बड़ा फैसला, पूर्व मंत्री…

मुख्यमंत्री ने यात्रियों को आश्वासन दिया कि यात्रा के दौरान जो भी समस्याएं आएंगी, उसे भी जल्द समाप्त कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बार चारों धामों में यात्रियों का स्वागत हेलीकॉप्टर से फूल वर्षा कर किया जाएगा। उन्होंने आश्वासन दिया कि इस बार यात्रा पूरी तरह से सफल रहेगी, जिसका संदेश देश ही नहीं विश्व में भी जाएगा। परिवहन मंत्री चंदन राम दास ने कहा कि चार धाम यात्रा की सफलता को बनाए रखने के लिए व्यवस्थाएं की गई हैं। चारों धामों में यात्रियों के रहने, खाने-पीने के साथ वाहनों के चालकों को विशेष रूप से प्रशिक्षण दिए जाने की व्यवस्था की है। 5000 वाहनों के ग्रीन कार्ड बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यात्रा पर जाने वाले सभी यात्रियों का पंजीकरण किया जाएगा, जिससे यात्रियों को चार धाम जाने में किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। वन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि इस बार की चार धाम यात्रा पिछले सभी रिकॉर्ड को तोड़ेगी।

उन्होंने कहा कि यह यात्रा राज्य की आर्थिक रीढ़ का भी कार्य करती है। उन्होंने यात्रा की सुरक्षा की दृष्टि से वाहन चालकों से अपेक्षा व्यक्त की है कि वह यात्रियों के प्रति सद्भावना रखते हुए धैर्यपूर्वक उन्हें यात्रा करवाएं। स्थानीय विधायक व शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि सभी यात्रा मार्गों पर सुरक्षा व्यवस्था के साथ सभी प्रकार की व्यवस्था की है। आपके स्वागत के लिए पूरी सरकार तैयार है। यात्री की सुविधा के लिए होटलों सहित दुकानों से खरीदे जाने वाले सामान पर किसी भी प्रकार का टैक्स न ले जाने की व्यवस्था की है। सभी सामान उत्तराखंड में टैक्स मुक्त रहेगा। उन्होंने यात्रियों से भी अपेक्षा व्यक्त की है कि वह जब अपने घर लौटे तो स्थानीय उत्पाद लेकर ही जाएं, छोटी सी खरीदी गई चीज से उत्तराखंड की आर्थिक स्थिति भी सुधरेगी।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)