2021 में चीन के बॉक्स ऑफिस ने की ताबड़तोड़ कमाई

बीजिंगः साल 2021 में चीन के बॉक्स ऑफिस ने 47.258 अरब युआन (7.4 अरब डॉलर) की कमाई की, जिसमें से 84.49 प्रतिशत कमाई घरेलू फिल्मों से हुई। यह जानकारी चीनी राष्ट्रीय फिल्म ब्यूरो ने शनिवार को दी। दरअसल, चीन में शहरी सिनेमा दर्शकों की संख्या 1.167 अरब तक पहुंच गई है। वर्तमान में देश भर में 14,235 सिनेमा घर मौजूद हैं और इस साल 6,667 नई स्क्रीन जोड़ी गईं, जिससे चीनी मुख्य भूमि पर स्क्रीन की कुल संख्या 82,248 हो गई। अब चीन में छुट्टियों में फिल्में देखना एक नया चलन बनता जा रहा है।

ये भी पढ़ें..दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और सांसद मनोज तिवारी हुए कोरोना संक्रमित

वहीं महामारी की रोकथाम और नियंत्रण और आर्थिक और सामाजिक विकास के समन्वय में महत्वपूर्ण प्रगतियां प्राप्त हुईं, और दर्शकों की सुरक्षा और उद्योग के विश्वास की भावना में काफी वृद्धि हुई है। कोविड-19 के प्रकोप के बाद से चीन का फिल्म उद्योग तेजी से ठीक हो गया है, और देश के वार्षिक बॉक्स ऑफिस और स्क्रीन की कुल संख्या अन्य देशों की तुलना में सबसे अधिक है।

चीन में पिछले एक साल में कुल 740 फिल्मों का निर्माण किया गया। 30 सितंबर से 5.77 अरब युआन से अधिक की कमाई करने वाली देशभक्ति चीनी ब्लॉकबस्टर फिल्म द बैटल एट लेक छांगचिन निस्संदेह सबसे बड़ी विजेता रही। यह चीनी बॉक्स ऑफिस पर अब तक की सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म है, साथ ही 2021 में विश्व स्तर पर शीर्ष कमाई करने वालों में से एक है। कई गुणवत्ता वाली चीनी देशभक्ति फिल्मों ने पिछले एक साल में बड़ी जीत हासिल की है, जिसे फिल्मी विशेषज्ञों ने नई मुख्यधारा फिल्मों का नाम दिया है। वे पिछली कई फिल्मों की तरह न केवल चीनी समाज के प्रचलित मूल्यों को व्यक्त करते हैं, बल्कि बॉक्स ऑफिस पर प्रभावशाली परिणाम भी प्राप्त करते हैं।

1.4 अरब युआन या 20 करोड़ डॉलर से अधिक की लागत में बनी, द बैटल एट लेक छांगचिन फिल्म में चीन की लगभग सभी पोस्ट-प्रोडक्शन कंपनियों की भागीदारी देखी गई, और फिल्म के पोस्ट-प्रोडक्शन के सभी पहलुओं को चीन में पूरा किया गया। चीन में फिल्म जगत से जुड़े विशेषज्ञों का मानना है कि कोविड-19 महामारी के बीच, इस फिल्म की बॉक्स ऑफिस सफलता ने न केवल चीन में बल्कि दुनिया भर में फिल्म उद्योग को बढ़ावा दिया है।

पिछले साल के लोकप्रिय देशभक्ति शीर्षकों में माई कंट्री, माई पेरेंट्स भी शामिल थे, जिसने माई पीपल, माई कंट्री और माई पीपल, माई होमलैंड के समान सामूहिक सृजन की कहानी कहने की तकनीक को अपनाया। इसके अलावा, चीनी डॉक्टर फिल्म में कोविड-19 के खिलाफ चीन की लड़ाई का एक सिनेमाई चित्रण किया गया और 1921 फिल्म में 100 साल पहले चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना का एक विहंगम दृश्य दिखाया गया।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)