World Hepatitis Day: बच्चों को हेपेटाइटिस से सबसे ज्यादा रहता है खतरा, जानें इसके लक्षण और बचाव

लखनऊः हेपेटाइटिस आमतौर पर लीवर की बीमारी है जो संक्रमण के कारण होती है। हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी व ई मुख्यतः पांच प्रकार की होती है, जिसमें हेपेटाइटिस ए व ई बरसात के मौसम में फैलने वाली बीमारी है। यह दूषित खाना और गंदा पानी पीने की वजह से होता है। यह बीमारी किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकती है, लेकिन विशेषकार बरसात के मौसम में बच्चों में इस बीमारी के होने की संभावना अधिक रहती है। चिकित्सकों के मुताबिक 90 प्रतिशत हेपेटाइटिस ए व ई का कारण दूषित खाना और पानी होता है। गर्भवती महिलाओं में हेपेटाइटिस ई जानलेवा साबित हो सकता है क्योंकि अभी इसका टीका उपलब्ध नहीं है।

क्या है इस बार वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे की थीम
हेपेटाइटिस के प्रति जागरुकता बढ़ाने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 28 जुलाई को हेपेटाइटिस दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष की थीम ‘हेपेटाइटिस इंतजार नहीं कर सकता’ है। हेपेटाइटिस बी व सी की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से कई प्रयास किये जा रहे हैं। हेपेटाइटिस बी के लिए वैक्सीन और हेपेटाइटिस सी के लिए कारगर दवाएं उपलब्ध हैं।

ये भी पढ़ें..नगदी बरामदगी के बाद विपक्ष हमलावर, अधीर ने कहा- बंगाल में…

क्या हैं इस बीमारी के लक्षण
थकान के साथ बुखार आना, भूख कम लगना, पेट दर्द, पीलिया, डायरिया की शिकायत, जी मिचलाना, उल्टी होना, त्वचा और आंखों का रंग पीला होना।

कैसे करें बचाव
साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। पानी को उबालकर पियें। पौष्टिक और सुपाच्य आहार लें। दाढ़ी बनाने में अपने ब्लेड का उपयोग करें। सुरक्षित टैटू बनवाएं। शराब, तम्बाकू और धूम्रपान की लत से बचें। योग और व्यायाम को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक औरट्विटरपर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…