चिदंबरम ने उठाया गोपनीयता भंग होने का मामला, एयर स्ट्राइक पर पूछे ये सवाल

62

नई दिल्लीः पुलवामा आतंकी हमले की जवाबी कार्रवाई के तहत भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट पर किए गए एयर स्ट्राइक को लेकर कांग्रेस अब भी सवाल उठाए हुए है। अब रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी के व्हाट्सएप चैट सामने आने के बाद एयर स्ट्राइक की जानकारी लीक होने को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने सरकार को घेरा है।

पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री चिदंबरम ने रविवार को ट्वीट कर केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार से पूछा है कि क्या असल स्ट्राइक से तीन दिन पहले एक पत्रकार (और उसके दोस्त) को बालाकोट शिविर में जवाबी हमले के बारे में पता था? यदि हाँ, तो इस बात की क्या गारंटी है कि उनके स्रोतों ने पाकिस्तान के साथ काम करने वाले जासूसों या मुखबिरों सहित अन्य लोगों के साथ भी जानकारी साझा नहीं की होगी?

एक अन्य ट्वीट में चिदंबरम ने सवाल किया है कि आखिर राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े गोपनीय निर्णय की जानकारी सरकार-समर्थक पत्रकार को कैसे मिली? उन्होंने संदेह जताते हुए कहा कि अगर सरकार किसी पत्रकार को जानकारी देती है, तो हो सकता है उस पत्रकार ने भी किसी से सूचना साझा की हो।

दरअसल रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी और टीवी रेटिंग एजेंसी बीएआरसी के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता के बीच कथित व्हाट्सएप चैट के स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। ट्विटर पर बीते दिनों बालाकोट ट्रेंड चल रहा है। दावा किया जा रहा है कि बालाकोट स्ट्राइक से तीन दिन पहले ही अर्णब गोस्वामी ने व्हाट्सएप चैट में कहा था कि कुछ बड़ा होने वाला है। ऐसे में हमले को सूचना पहले ही किसी मीडिया संस्थान को होने की बात को लेकर कांग्रेस गोपनीयता के मुद्दे पर सवाल उठा रही है।

यह भी पढ़ेंः-विकास दुबे के जीवन पर आधारित बन रही फिल्म पर ऋचा दुबे ने जतायी आपत्ति

उल्लेखनीय है कि अर्नब गोस्वामी के वायरल हुए व्हाट्सअप चैट के स्क्रीनशॉट से साफ है कि 23 फरवरी, 2019 को उन्होंने पार्थो दासगुप्ता से स्ट्राइक संबंधी बात साझा की थी। इसके तीन दिन बाद 26 फरवरी, 2019 को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तानी शहर बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाकर हमला किया था। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी, 2019 के हमले की प्रतिक्रिया के रूप में भारतीय वायुसेना ने यह हमला किया था। पुलवामा में एक आत्मघाती हमलावर द्वारा संचालित एक विस्फोटक से भरी कार के बस में घुसने के बाद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान मारे गए थे।