सीजीएसटी अधिकारियों ने 134 करोड़ रुपये की टैक्स धोखाधड़ी का किया भंडाफोड़

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में सीजीएसटी अधिकारियों ने फर्जी निर्यातकों के एक नेटवर्क का भंडाफोड़ किया है। अधिकारियों ने इस दौरान 134 करोड़ रुपये के इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) का फर्जी दावा करने के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया है। वित्त मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी।

वित्त मंत्रालय ने जारी एक बयान में बताया कि केंद्रीय माल और सेवा कर (सीजीएसटी) आयुक्तालय दिल्ली पूर्व के अधिकारियों ने विस्तृत विश्लेषण के दौरान फर्जी निर्यातकों के एक नेटवर्क का पता लगाया है, जो धोखाधड़ी से आईजीएसटी रिफंड का दावा करने के इरादे से माल और सेवा कर (जीएसटी) के तहत 134 करोड़ रुपये के फर्जी इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) का लाभ उठाने के साथ उनका उपयोग कर रहे थे।

यह भी पढ़ेंः-ड्रग्स पार्टी: आर्यन खान समेत तीन आरोपितों को नहीं मिली जमानत

मंत्रालय के मुताबिक जोखिम विश्लेषण के आधार पर पान मसाला, तंबाकू, एफएमसीजी सामान आदि के निर्यात में लगी मैसर्स वाइब ट्रेडेक्स की जांच के लिए पहचान की गई है, जो फर्जी निर्यातकों का नेटवर्क चला रहा था। इसकी पहचान चिराग गोयल के तौर पर की गई है। बयान में कहा गया है कि गोयल इस पूरे मामले का सरगना है, जिसको 26 अक्टूबर तक 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इस मामले में आगे की जांच जारी है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)