झारखंड में सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी, 10 लाख के इनामी नक्सली को दबोचा

8
carrying-reward-of10-lakh-arrested-in-jharkhand

गुमला : गुमला पुलिस ने 10 लाख रुपये के इनामी भाकपा माओवादी के सब जोनल कमांडर शंभू गंझू उर्फ ​​रवि गंझू को गिरफ्तार कर रविवार को जेल भेज दिया। रवि गंझू का घर चतरा जिले के टंडवा थाना के हुंबी सराधु गांव है। पुलिस ने उसे घाघरा थाना के दिरगांव स्थित झलकापाठ करसिली जंगल से गिरफ्तार किया। उसके खिलाफ चतरा, लातेहार, गुमला में एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं।

पुलिस के हत्थे चढ़ा इनामी माओवादी

गुमला के पुलिस अधीक्षक शंभू कुमार सिंह को इसकी गुप्त सूचना मिली। इसके बाद एसपी के निर्देश पर एसडीपीओ गुमला, घाघरा थाना प्रभारी और क्यूआरटी की टीम गठित की गयी। पुलिस टीम ने रवि गंझू को पकड़ने की रणनीति बनायी। इसके बाद पुलिस टीम घाघरा थाना क्षेत्र के दिरगांव इलाके में घुसी और घेराबंदी कर रवि गंझू को गिरफ्तार कर लिया। जिस समय रवि गंझू को पकड़ा गया, उस समय वह अकेला था। उसके अन्य साथी उसके साथ नहीं थे। रवि के पास कोई हथियार नहीं मिला। क्योंकि वह ग्रामीण वेश-भूषा में गांव-गांव जाकर संगठन को मजबूत करने में जुटा था। हालांकि उसके पास से एक बैग मिला है, जिसमें साबुन, टूथब्रश, कोलगेट पेस्ट, रवि गंझू द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला कपड़ा के साथ ही भाकपा (माओवादी) का छपा हुआ पर्चा मिला है।

यह भी पढ़ें-Modi 3.0 कैबिनेट के मंत्रियों की लिस्ट फाइनल ! जानें यूपी से कौन-कौन बन रहा मंत्री

प्रेस वार्ता में गुमला एसपी शंभू कुमार सिंह ने बताया कि गुमला के बिशुनपुर, घाघरा और चैनपुर इलाके में भाकपा (माओवादी) के कमजोर पड़ने के बाद रवि गंझू सैक सदस्य छोटू खेरवार के कहने पर लेवी की रकम वसूलने और संगठन का विस्तार करने की नीयत से घाघरा इलाके में घुसा था। तभी गुप्त सूचना मिली। तत्काल पुलिस टीम गठित कर रवि गंझू को गिरफ्तार कर लिया गया। एसपी ने बताया कि जब पुलिस दीरगांव के झालापाट इलाके में घुसी तो एक व्यक्ति को संदिग्ध हालत में घूमते देखा। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर उसकी पीठ पर लटके बैग की जांच की तो उसमें भाकपा (माओवादी) का पर्चा मिला।

सरकार ने रखा था 10 लाख का इनाम

पूछताछ में पता चला कि वह भाकपा (माओवादी) का सबजोनल कमांडर है और सरकार ने उस पर 10 लाख रुपये का इनाम रखा है। पूछताछ में रवि गंझू ने कई अहम जानकारियां दी हैं, जिसके आधार पर पुलिस कार्रवाई करेगी। एसपी ने बताया कि रवि गंझू के दस्ते में कुल आठ सदस्य हैं। लेकिन उसके अन्य साथी बूढ़ा पहाड़ इलाके में हैं। वह अकेले ही इस इलाके में घुसा था। रवि गंझू खुद लातेहार जिले के बूढ़ा पहाड़ में रहता था। लेकिन, भाकपा (माओवादी) के शीर्ष नेताओं के आदेश पर वह गुमला में घुसा और पकड़ा गया।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)