सीएम मान का बड़ा ऐलान, राज्य के 14 हजार कच्चे कर्मचारी होंगे रेगुलर

Cabinet meeting chaired by Chief Minister Bhagwant Mann

 

चंडीगढ़ः पंजाब सरकार ने कच्चे कर्मचारियों की वर्षों पुरानी मांग को देखते हुए उन्हें पक्का करने का फैसला किया है। मंगलवार को मुख्यमंत्री भगवंत मान की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में एडहॉक, कंट्रेक्ट, डेली वेजिज़, वर्क चार्जिड और अस्थाई कर्मचारियों के लिए नीति को हरी झंडी दे दी गई। इस फैसले से अलग-अलग विभागों में 14 हजार 417 कच्चे कर्मचारियों को लाभ मिलेगा।



मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि इससे पहले सरकार ने शिक्षा विभाग में 13 हजार कच्चे कर्मचारियों की सेवाएं रेगुलर की थीं। उन्होंने बताया कि पिछली सरकारों के समय ग्रुप सी और ग्रुप डी के पदों पर की गई अलग-अलग नियुक्तियां सख्त ज़रूरत और आपात स्थिति में सेवाओं के आधार पर की गई थी। इनमें से कुछ कर्मचारी 10 साल या इससे अधिक समय भी पूरा कर चुके हैं।

कल्याणकारी राज्य और इन मुलाजिमों के हितों की सुरक्षा के लिए राज्य सरकार ने भारतीय संविधान की सातवीं अनुसूची की सूची 41 के साथ धारा 162 के अंतर्गत मौजूदा नीति तैयार की है, जिससे इन मुलाजिमों को किसी किस्म की अनिश्चितता और परेशानी का सामना न करना पड़े और उनकी नौकरी के दौरान सुरक्षा बनी रहे। राज्य ने योग्यता की शर्तों पूरी करने वाले ऐसे योग्य मुलाजिमों को विशेष काडर में शामिल करके 58 साल की उम्र तक उनकी सेवाएं जारी रखने के लिए नीतिगत फ़ैसला लिया है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)