अखिलेश के बयान पर भाजपा का पलटवार, कहा-तिरंगे के साथ दंगा शब्द जोड़ना दुर्भाग्यपूर्ण, मांगें माफी

भाजपा

लखनऊः समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के बयान ‘तिरंगा यात्रा के दौरान भाजपा दंगे करवा सकती है’ पर भाजपा ने अखिलेश यादव पर पलटवार किया है। भाजपा प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा कि तिरंगे के साथ दंगा शब्द जोड़ना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को अपने इस बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए। वह भारत के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा जिसके साथ एकात्मता का भाव जुड़ता है। जो किसी जाति का नहीं, किसी मजहब का नहीं, किसी वर्ग का नहीं बल्कि सम्पूर्ण भारतीयों के लिए स्वाभिमान का प्रतीक है। उस तिरंगे के साथ वो दंगे जैसे शब्द का इस्तेमाल कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को रह-रहकर अपने कार्यकाल में दंगों की याद सताती है कि अपने कार्यकाल में कैसे पूरे उत्तर प्रदेश के हर जिले में उन्होंने दंगा फैलाने का काम किया था। दंगाइयों को बचाने का काम किया था, लेकिन आज दंगा मुक्त उत्तर प्रदेश उनसे देखा नहीं जा रहा है और इसीलिए उन्हें दंगे की याद आ रही है। उन्हें इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।

ये भी पढ़ें..नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद चीन ने खोया आपा,…

उल्लेखनीय है कि छोटे लोहिया से चर्चित स्व. जनेश्वर मिश्र की जयंती पर आज उन्हें याद किया गया। इसी के तहत समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जनेश्वर मिश्रा पार्क पहुंचे और उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धाजंलि दी। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए श्री यादव ने तिरंगा यात्रा के इस अभियान को लेकर कहा था कि भाजपा तिरंगे के साथ दंगा भी करवा सकती है इससे सावधान रहना है। इस बयान के बाद अब भाजपा ने अखिलेश यादव को घेरना शुरू कर दिया है।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक औरट्विटरपर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…