असम विस चुनाव 2021: 75 सीटों के साथ भाजपा गठबंधन की सत्ता में दोबारा वापसी

गुवाहाटी: 126 सदस्यीय असम विधानसभा चुनाव में भाजपा नेतृत्व वाले गठबंधन ने 73 सीटें जीतकर लगातार दूसरी बार सत्ता हासिल कर ली है। देर रात तक आए अंतिम चुनाव नतीजों के अनुसार भाजपा 60, कांग्रेस 29, एआईयूडीएफ 16, अगप 9, यूपीपीएल 6, बीपीएफ 4, भाकपा (मार्क्सवादी) 1 और निर्दलीय 1 उम्मीदवार ने जीत हासिल की है।

उल्लेखनीय है कि 2016 के चुनाव नतीजों से 2021 के नतीजों में कुछ अधिक अंतर देखने को नहीं मिला है। 2016 में भी भाजपा को 60, कांग्रेस 26, एआईयूडीएफ 13, अगप 14, बीपीएफ 12 और निर्दलीय 1 उम्मीदवार ने जीत हासिल किया था।

ज्ञात हो कि 2016 की तुलना में 2021 के चुनाव में भाजपा गठबंधन को 11 सीटें कम मिली हैं। इसका एक कारण यह भी है कि भाजपा गठबंधन से अलग होकर बीपीएफ पार्टी कांग्रेस वाले गठबंधन में चली गयी है। हालांकि बीपीएफ की सीटें 12 से घटकर 04 रह गयी हैं। जबकि, यूपीपीएल ने भाजपा के साथ गठबंधन के तहत चुनाव लड़कर 8 सीटों पर जीत हासिल की है।

पिछले वर्ष के मुकाबले इस बार कांग्रेस को 03, एआईयूडीएफ 03, भाकपा (मार्क्सवादी) 1 और बीपीएफ 04 को सीटें मिली हैं। इस तरह कांग्रेस गठबंधन को 2021 के चुनाव में कुल 50 सीटों पर जीत मिली है।

उल्लेखनीय है कि 2021 के चुनाव में 2016 की तुलना में उम्मीदवारों की संख्या कम थी। 2021 में कुल 946 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे, जिसमें 872 पुरुष तथा 74 महिला उम्मीदवार थीं। जबकि, 2016 में 1064 उम्मीदवार थे। जिसमें 973 पुरुष तथा 91 महिला उम्मीदवार थीं।

कुल मतदाताओं की संख्या 2,33,74,087 में से 1,18,23,286 पुरुष, 1,15,50,403 महिला तथा 398 उभय लिंग के मतदाता हैं। चुनाव आयोग ने 33530 मतदान केंद्र बनाये गये थे। 2016 के चुनावों पर नजर डालें तो 1,99,53,409 मतदाताओं में 1,03,14,171 पुरुष, 96,39,226 महिला तथा 12 उभय लिंग के मतदाता थे। चुनाव आयोग ने 24890 मतदान केंद्र बनाये गये थे।

यह भी पढ़ेंः-संघर्षों में तप कर कुंदन हुई हैं ममता, आसान नहीं है अग्नि कन्या को हराना

इस बार के चुनाव में पोस्टल बैलेटों की संख्या में लगभग 414 फीसद की वृद्धि दर्ज की गयी थी। गत 30 अप्रैल तक 1,50,033 पोस्टल बैलेट के जरिए मतदान हुए थे। 2016 में पोस्टल बैलेटों की संख्या सिर्फ 29173 थी। कोरोना महामारी के मद्देनजर राज्य के 331 काउंटिंग हॉल में मतों की गिनती हुई। जिसमें से 279 ईवीएम काउंटिंग हॉल तथा 52 पोस्ट बैलेट काउंटिंग हॉल बनाये गये थे। वहीं 2016 की मतगणना की बात करें तो कुल 143 काउंटिंग हॉल बनाये गये थे।

loading...