राजस्थान के 16 जनपदों में बर्ड फ्लू का कहर, अब तक 3947 पक्षियों की मौत

75

 

जयपुरः राजस्थान में एवियन इन्फ्लुएंजा (बर्ड फ्लू) का संक्रमण विभिन्न जिलों में बढ़ता जा रहा है। अब तक प्रदेश के आधे से अधिक जिलों में बर्ड फ्लू का संक्रमण फैल चुका हैं। राज्य में मंगलवार को विभिन्न जिलों में सर्वाधिक 626 पक्षियों की मौत हुई। प्रदेश के पशुपालन विभाग को भोपाल स्थित रेफरल लैब से झुंझुनूं जिले के सैम्पल्स की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली हैं। झुंझुनूं को मिलाकर अब तक प्रदेश के 16 जिलों के 62 नमूनों में बर्ड फ्लू के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी हैं।

राज्य के झालावाड़ जिले में सर्वप्रथम कौओं की असामयिक मौतों के बाद विभिन्न जिलों में पक्षियों की मौतें होना शुरु हुई। प्रदेश में 25 दिसम्बर से लेकर मंगलवार तक 3947 पक्षी असामयिक मौत के शिकार हो चुके हैं। इनमें 2900 कौएं, 211 मोर, 242 कबूतर तथा 594 अन्य पक्षी शामिल है। राजस्थान से भोपाल की रेफरल लैब को अब तक 26 जिलों से 251 सैम्पल्स भेजे जा चुके हैं, जिनमें से 16 जिलों के 62 नमूने पॉजिटिव पाए गए हैं। राजस्थान के विभिन्न जिलों में मंगलवार को 626 पक्षी मृत मिले। इनमें 349 कौएं, 52 कबूतर, 22 मोर तथा 203 अन्य पक्षी शामिल हैं। राज्य के पशुपालन विभाग को भोपाल की रेफरल लैब से मंगलवार को मिली रिपोर्ट में भरतपुर व जोधपुर से भेजे गए मृत पक्षियों के सैम्पल्स की जांच रिपोर्ट नेगेटिव मिली, जबकि झुंझुनूं जिले के सैम्पल्स पॉजिटिव पाए गए हैं।

यह भी पढ़ें-फातिमा शेख ने तलवार से काटा बर्थडे केट, वायरल हो रहा वीडियो

अब तक राज्य में राजधानी जयपुर, दौसा, सवाई माधोपुर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, पाली, सिरोही, कोटा, बारां, झालावाड़, बांसवाड़ा, चित्तौडगढ़, टोंक, करौली, प्रतापगढ़ व झुंझुनूं जिले में मृत पाए गए पक्षियों के सैम्पल्स की जांच रिपोर्ट में बर्ड फ्लू के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी हैं। पशुपालन विभाग ने राज्य सरकार के निर्देशों के बाद सभी जिलों के लिए एडवायजरी जारी कर सतर्कता उपायों पर अमल करने के निर्देश जारी किए हैं।