Bihar Bridge Collapse: बिहार में एक और पुल भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा, एक सप्ताह में तीसरा ब्रिज हुआ धराशायी

75
bridge-collapsed-in-motihari

Bihar Bridge Collapse, पटना: बिहार में पुल गिरने की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। अररिया (Araria Bridge Collapse)और सीवान जिले में पुल गिरने (Siwan Bridge Collapse) की घटना के बाद अब मोतिहारी जिले में निर्माणाधीन पुल (Motihari Bridge Collapse) भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है। मोतिहारी के घोड़ासहन प्रखंड के अमावा से चैनपुर स्टेशन जाने वाली सड़क पर बन रहे पुल की शनिवार को ढलाई हुई और रविवार को पुल ढह गया।

डेढ़ करोड़ की लागत से तैयार किया जा रहा था पुल

करीब डेढ़ करोड़ रुपये की लागत से इस पुल का निर्माण कराया जा रहा था। पिछले कई दिनों से पुल की ढलाई का काम चल रहा था। मिली जानकारी के मुताबिक अररिया के घोड़ासन में निर्माणाधीन इस पुल का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से हो रहा था। इस आरसीसी पुल का निर्माण धीरेंद्र कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा कराया जा रहा था। शनिवार को पुल के एक हिस्से की ढलाई की गई थी, जो आज ढह गया।

ये भी पढ़ेंः-Siwan Bridge Collapsed: अररिया के बाद अब सीवान में गंडक नहर का पुल ढहा, मिनटों में पानी में समा गया

पुल निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल

लोगों का कहना है कि पुल के निर्माण में घटिया सामग्री के इस्तेमाल के कारण पुल ढहा है। ग्रामीणों ने सरकार से इसकी जांच की मांग की है। 18 जून को अररिया में बकरा नदी पर बन रहे पुल का एक हिस्सा ढह गया था। अगले दिन सीवान में गंडक नहर पर बना पुल ढह गया और आज मोतिहारी में भी ऐसी ही घटना घटी। एक सप्ताह में निर्माणाधीन पुल ढहने की यह तीसरी घटना है।

सीवान में भी पुल ढहा

बता दें कि इसस पहले शनिवार को सीवान जिले के महाराजगंज के पटेढ़ा गांव स्थित नहर पर बना पुल (Siwan Bridge Collapse) अचानक ढह गया। पुल के ढहने से आसपास के दर्जनों गांवों का संपर्क टूट गया। हालांकि यह पुल काफी पुराना था और मिट्टी के कटाव के कारण पुल ढह गया। बिहार में एक सप्ताह में के अंदर तीसरा ब्रिज धराशायी हुआ है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)