ममता सरकार में बाबुल सुप्रियो का बढ़ा कद, मिली ये बड़ी जिम्मेदारी

कोलकाताः पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सरकार ने आखिरकार बाबुल सुप्रियो को बड़ी जिम्मेदारियां दी है। उन्हें राज्य विधानसभा में गृह विभाग सहित चार समितियों का सदस्य बनाया गया है। हाल ही में बालीगंज उपचुनाव में तृणमूल के टिकट पर जीत दर्ज करने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को कार्मिक और प्रशासनिक सुधार, बंदी प्रशासन तथा विधि एवं न्यायिक मामलों की स्थाई समितियों का भी सदस्य नियुक्त किया गया है। यह आदेश 12 मई से प्रभावी होगी। उक्त चारों समितियां स्थाई हैं और इनकी सदस्यता देकर तृणमूल कांग्रेस ने उन्हें बड़ी जिम्मेदारियां दी हैं।

उल्लेखनीय है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने यह कहते हुए तृणमूल कांग्रेस का दामन थामा था कि वह राज्य के लोगों की सेवा करना चाहते हैं। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार के बाद मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार के दौरान बाबुल सुप्रियो को केंद्रीय मंत्रिमंडल से हटा दिया गया था जिसके बाद वह नाराज चल रहे थे और तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

यह भी पढ़ेंः-कड़ी सुरक्षा के बीच ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे शुरू, आवागमन पर…

पार्टी ने उन्हें बालीगंज उप चुनाव में उम्मीदवार बनाया था जहां उनकी जीत हुई थी लेकिन विधायक के तौर पर शपथ दिलाने को लेकर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने दस्तावेजों में खामी बताया था जिसकी वजह से अनिश्चितता बनी हुई थी। हालांकि राज्यपाल के निर्देश के मुताबिक विधानसभा उपाध्यक्ष आशीष बनर्जी ने गत बुधवार को ही उन्हें विधायक के तौर पर शपथ दिलाई थी।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक औरट्विटरपर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)