लखीमपुर हिंसा मामले में आरोपित अंकित दास ने किया आत्मसमर्पण, एसआईटी कर रही पूछताछ

लखनऊः उत्तर प्रदेश के लखीमपुर जनपद में हिंसा के मामले में आरोपित अंकित दास ने बुधवार को एसआईटी के समक्ष खुद को सरेंडर किया है। अब एसआईटी टीम इस प्रकरण को लेकर अंकित दास से पूछताछ कर रही है। अंकित दास के साथ ही उसके निजी गनर लतीफ को भी हिरासत में लिया गया है। लखीमपुर की घटना में चार किसान समेत आठ प्रदर्शनकारियों की मौत मामले में पुलिस ने गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

वहीं, अंकित दास के खिलाफ साजिश, हत्या, गैर इरादतन हत्या, बलवा समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज है। मामले में अंकित के कार चालक शेखर को एसआइटी ने पलिया बस स्टैंड से मंगलवार को गिरफ्तार किया था। वहीं, घटना के बाद से पुलिस अंकित दास की तलाश में दबिश दे रही थी। अंकित खीरी कांड के आरोपित और पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास के भतीजे है।

यह भी पढ़ें-प्रधानमंत्री ने महाअष्टमी पर देश को दी ‘पीएम गति शक्ति’ की…

एसआईटी ने अखिलेश के सदर पुराना किला स्थित आवास पर नोटिस चस्पा किया था, जिसमें बुधवार को क्राइम ब्रांच दफ्तर में बयान दर्ज कराने का आदेश दिया था। उल्लेखनीय है कि अंकित पर तीन अक्टूबर को लखीमपुर में हुई हिंसा के दौरान घटनास्थल पर उपस्थित रहने का आरोप है। वह इस मामले में गिरफ्तार मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा का करीबी बताया जा रहा है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)