Amarnath Yatra 2024: अमरनाथ यात्रा के लिए पहला जत्था जम्मू से रवाना, LG मनोज सिन्हा ने दिखाई हरी झंडी

45
amarnath-yatra-2024

Amarnath Yatra 2024, जम्मूः बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए भक्तों का पहला जत्था जम्मू-कश्मीर के भगवती नगर स्थित यात्री निवास से अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना हुआ। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शुक्रवार को पूजा-अर्चना के बाद अमरनाथ यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 4,603 श्रद्धालुओं का पहला जत्था कड़ी सुरक्षा के बीच कश्मीर के बेस कैंप पहलगाम और बालटाल के लिए रवाना हुए।

52 दिनों तक चलेगी अमरनाथ यात्रा

बता दें कि इस वर्ष पवित्र अमरनाथ गुफा की यात्रा 52 दिनों तक चलेगी। कुल 1,933 तीर्थयात्री उत्तर कश्मीर बालटाल मार्ग से जा रहे हैं, जबकि 2,670 श्रद्धालु दक्षिण कश्मीर नुनवान (पहलगाम) आधार शिविर से जा रहे हैं। तीर्थयात्रियों में 3,631 पुरुष, 711 महिलाएं, नौ बच्चे, 237 साधु और 15 साध्वियां शामिल हैं। पहला सुरक्षा काफिला सुबह 5.45 बजे बालटाल आधार शिविर के लिए रवाना हुआ, जबकि दूसरा काफिला सुबह 6.20 बजे नुनवान (पहलगाम) आधार शिविर के लिए रवाना हुआ।

ये भी पढ़ेंः- दिल्ली एयरपोर्ट पर बड़ा हादसाः टर्मिनल-1 की छत ​​​​​​गिरने के एक की मौत, कई गाड़ियां दबीं, सभी उड़ानें रद्द

Amarnath Yatra 2024: सुरक्षा व्यवस्था सख्त

तीर्थयात्री पवित्र गुफा तक या तो 48 किलोमीटर लंबे पारंपरिक पहलगाम मार्ग से या 14 किलोमीटर लंबे बालटाल मार्ग से पहुंचते हैं। पहलगाम मार्ग का उपयोग करने वालों को गुफा मंदिर तक पहुंचने में चार दिन लगते हैं, जबकि बालटाल मार्ग का उपयोग करने वाले उसी दिन प्रार्थना करने के बाद वापस लौट आते हैं।

इस साल 52 दिवसीय तीर्थयात्रा 19 अगस्त को सावन की पूर्णिमा के दिन रक्षा बंधन के दिन समाप्त होगी। यात्रा को सुचारू और निर्बाध बनाने के लिए तीर्थयात्रा मार्गों, दोनों आधार शिविरों और मंदिर पर व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की गई है। दोनों मार्गों पर तीर्थयात्रियों के लिए हेलीकॉप्टर सेवाएं भी उपलब्ध हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)