भाषण में अभद्र भाषा के इस्तेमाल पर रहेगी पुलिस की नजर, गृह मंत्री ने दिए ये निर्देश

37

chhattisgarh-police

रायपुर : छत्तीसगढ़ में अब भाषण देने वालों को अपनी भाषा का ख्याल रखना होगा, अगर अभद्र भाषा का प्रयोग किया जाता है तो ऐसे लोगों पर कार्रवाई तय है। राज्य के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक में इसके संकेत दिए हैं। अपराध एवं कानून व्यवस्था को लेकर गृह विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक में गृह मंत्री साहू ने पुलिस अधीक्षक को सीमावर्ती क्षेत्रों पर विशेष नजर रखते हुए जिले के आंतरिक क्षेत्रों में चौकसी बरतने के निर्देश दिये।

उन्होंने आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए जिले में सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत करने के निर्देश दिए। पुलिस अधीक्षक से कहा गया कि जिले में और सुरक्षा बल की आवश्यकता होने पर सूचना भिजवाएं। उन्होंने जिले में आक्रामक भाषण और सामाजिक माहौल खराब करने वालों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने और जिले में साइबर मामलों की जानकारी लेने तथा साइबर क्राइम थानों में अत्याधुनिक उपकरणों की व्यवस्था करने तथा महिला अपराध जैसे विषयों पर कार्रवाई करने को कहा।

ये भी पढ़ें..नशा के खिलाफ अभियान को जन-जन तक पहुंचाएगी सरकार, CM ने दिए ये निर्देश

मालूम हो कि इस साल राज्य में चुनाव होने हैं और सोशल मीडिया पर लोगों की सक्रियता बढ़ती जा रही है। ऐसे में अभद्र भाषा और असंसदीय भाषा के प्रयोग से माहौल बिगड़ने की आशंका रहेगी। इसलिए सरकार ने अभी से इस दिशा में कदम उठाना शुरू कर दिया है। गृह मंत्री साहू ने महिलाओं व बच्चों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने को कहा और जिले में हुक्का व नशे की लगातार निगरानी कर प्रभावी कदम उठाने के निर्देश दिए।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)