काशी में दिखेगी बौद्ध व जापानी संस्कृति की झलक, मंडलायुक्त ने दिये निर्देश

varanasi-commissioner-meeting

वाराणसी: काशी में अब जल्द ही बौद्ध व जापानी संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी। यहां चल रहीं परियोजनाओं- रोपवे, नये मंडलीय कार्यालय, ट्रांसपोर्ट नगर, बस अड्डा, टेंट सिटी व नई टाउनशिप नीति आदि में बौद्ध संस्कृति और जापानी संस्कृति को भी स्थान मिलेगा, जिससे इन प्रस्तावित परियोजनाओं को विदेशों में भी ख्याति मिल सके। वाराणसी परिक्षेत्र के मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा ने मंगलवार को इन प्रस्तावित परियोजनाओं को लेकर बैठक की।

मंडलायुक्त की बैठक में रोपवे निर्माण की जानकारी दी गई। बताया कि निर्माणाधीन एजेंसी ने दो प्रमुख स्टेशन व नौ टावर्स के चिन्हित स्थलों पर मिट्टी की जांच शुरू कर दी है। इस पर मंडलायुक्त ने रोपवे निर्माण की प्रगति की जानकारी समय पर देने के निर्देश दिये। इसके साथ ही बैठक में सारनाथ में अंतरराष्ट्रीय बुद्धिस्ट सर्किट के तहत चल रही परियोजना की समीक्षा की।

मंडलायुक्त ने बौद्ध व जापानी संस्कृति को भी प्रोजेक्ट में स्थान देने को कहा। विकास प्राधिकरण ने ट्रांसपोर्ट नगर व टेंट सिटी के संबंध में जानकारी दी। इस पर मंडलायुक्त ने टेंट सिटी के लिये नमो घाट एवं एयरपोर्ट पर टिकट काउंटर खोलने को कहा। साथ ही उन्होंने निर्देश दिये कि पर्यटकों का फीडबैक भी लिया जाये।

ये भी पढ़ें..उत्तर प्रदेश के इतिहास पर डीएम ने डाला प्रकाश, हस्ताक्षर अभियान का किया शुभारंभ

मंडलायुक्त ने शहर में नई टाउनशिप, प्रस्तावित बस अड्डे व साड़ी कारोबारियों के लिए तय स्थानों के संबंध में जानकारी हासिल करने के लिए कमेटी बनाने व जानकारी देने के निर्देश दिये। इसके साथ ही वीडीए के अधिकारियों ने जी-20 बैठक की तैयारियों की जानकारी दी। बैठक में मंडलायुक्त ने क्षेत्र की प्रमुखता के अनुसार व थीम पर आधारित पेंटिंग कराने को कहा। लोकनिर्माण विभाग के अधिकारियों ने भी जी-20, पुलों व नई सड़कों के संबंध में बने प्रस्ताव व सुगम यातायात के संबंध में जानकारी दी। मंडलायुक्त ने बैठक में संबंधित विभागों को सभी प्रोजेक्ट्स में तेजी लाने के निर्देश दिये। बैठक में विकास प्राधिकरण अभिषेक गोयल भी उपस्थित रहे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)